आदमखोर बाघ के बाद बिहार में सियार का आतंक, 24 ग्रामीणों को बनाया शिकार

गोपालगंज. बिहार के बगहा में आदमखोर बाघ के आतंक के बाद गोपालगंज जिले के एक गांव में सियार के आतंक से लोग परेशान हैं. अबतक दो दर्जन लोगों को सियार काट चुका है. मामला विशंभरपुर थाने के विशंभरपुर गांव का है, जहां सियार के हमले से लहुलूहान लोगों को सदर अस्पताल में इलाज कराया गया. इलाज के बाद सभी की हालत खतरे से बाहर बतायी गई है.

सियार के हमले के बाद गांव के बच्चे अपने-अपने घरों में कैद हो गए हैं. लोग दहशत की वजह से बच्चों को बाहर नहीं निकलने दे रहे हैं. पिछले एक सप्ताह से सियार का आतंक विशंभरपुर गांव में फैला है. विशंभरपुर गांव के मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि वन विभाग की टीम सियार को पकड़ने के लिए नहीं पहुंची, जिसके बाद शुक्रवार की शाम में सियार को ग्रामीणों ने मार दिया. लाठी-डंडे से करीब डेढ़ सौ ग्रामीणों ने सियार को चारों तरफ से घेर लिया और सियार को पीट-पीट कर मार डाला.

दूसरी तरफ सियार के हमले से जख्मी लोगों को कुचायकोट सीएचसी में पहुंचाया गया, जहां उन्हें दवाएं नहीं मिलीं. जख्मी महिला सोनम देवी और मीना देवी ने बताया कि एंटी रैबीज इंजेक्शन नहीं मिलने पर सदर अस्पताल जाना पड़ा है. स्थानीय अस्पताल में ही इलाज और दवा की सुविधा मिल जाती तो परेशानी नहीं होती.

सियार को मारने के बाद भले ही ग्रामीणों ने राहत की सांस ली हो, लेकिन जंगली जानवरों का दहशत बरकरार है. इधर मामले की जानकारी मिलने के बाद सदर एसडीएम डॉ प्रदीप कुमार ने स्थानीय सीओ से रिपोर्ट मांगी है.

Tags: Bihar News, Gopalganj news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.