अब एमपी के इस नेशनल पार्क में छोड़े जाएंगे टाइगर, 1996 में आखिरी बार यहां दिखा था बाघ

शिवपुरी: गुना-शिवपुरी दौरे पर पहुंचे क्षेत्रीय सांसद डॉक्टर केपी यादव ने माधव नेशनल पार्क स्थित सेलिंग क्लब में बैठक कर टाइगर प्रोजेक्ट की समीक्षा की। इस अवसर पर टाइगर लाने के लिए की जा रहे कार्यों की प्रगति एवं अव संरचनात्मक कार्यों की जानकारी ली। माधव नेशनल पार्क के सहायक संचालक अनिल सोनी ने नक्शे के माध्यम से सांसद डॉक्टर केपी यादव को टाइगर प्रोजेक्ट के चल रहे कार्यो की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जनवरी में नर एवं मादा टाइगर जोड़ी को सबसे पहले नेशनल पार्क में छोड़ा जाएगा।

पर्यटकों की संख्या में होगा इजाफा- केपी
सांसद डॉ केपी यादव ने कहा कि क्षेत्र के चौमुखी विकास के लिए वह प्रतिबद्ध हैं, नेशनल पार्क में टाइगर आने से यहां पर्यटकों की संख्या में इजाफा होगा साथ ही स्थानीय रोजगार वृद्धि होगी। उन्होंने बताया कि पड़ोसी जिले श्योपुर के कूनो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चीते बसाये गए हैं अब शीघ्र ही माधव नेशनल पार्क में भी टाइगरों का पुनर्वास किया जाएगा। इस तरह से वन्य प्राणियों के संरक्षण व संवर्धन की दिशा में सार्थक कदम उठाए जा रहे हैं।
इसे भी पढ़ें-
ये आराम का मामला है! शावकों के साथ टाइगर का दिखा अलग अंदाज, वन विभाग ने चेताया

1996 में दिखे थे आखिरी बार टाइगर
माधव नेशनल पार्क में 1990-91 तक यहां काफी संख्या में टाइगर हुआ करते थे, अंतिम बार 1996 में यहां टाइगर देखा गया था। माधव नेशनल पार्क को टाइगर रिजर्व बनाने की तैयारी भी की जा रही है इसके लिए वन विभाग की ओर से टाइगर रिजर्व का प्रस्ताव भी तैयार कराया जा रहा है।

सांसद ने शहीद अमर शर्मा को दी श्रद्धांजलि
पिछले दिनों लद्दाख में तैनात शिवपुरी के वीर सपूत शहीद अमर शर्मा के घर सांसद डॉक्टर केपी यादव पहुंचे। जहां उन्होंने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शहीद के परिजनों से भेंट की। इस दौरान शहीद के परिजन भावुक हो गए, सांसद केपी यादव ने उन्हें ढांढस बंधाते हुए हिम्मत रखने का आग्रह किया एवं कहा कि इस दुख की घड़ी में सब आपके साथ हैं। शहीद अमर शर्मा के परिवार की सरकार पूरी चिंता करेगी।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.