अडाणी ग्रीन ने राजस्थान में तीसरा हाइब्रिड संयंत्र चालू किया, दुनिया की सबसे बड़ी पवन-सौर हाइब्रिड बिजली कंपनी’’ बनी

प्रतिरूप फोटो

Google Creative Common

अडाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) ने सोमवार को राजस्थान में अपना तीसरा हाइब्रिड बिजली संयंत्र चालू करने की घोषणा की। इसकी उत्पादन क्षमता 450 मेगावॉट है।

अडाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) ने सोमवार को राजस्थान में अपना तीसरा हाइब्रिड बिजली संयंत्र चालू करने की घोषणा की। इसकी उत्पादन क्षमता 450 मेगावॉट है।
एजीईएल ने साथ ही कहा कि वह 1,440 मेगावॉट की परिचालन क्षमता के साथ ‘‘दुनिया की सबसे बड़ी पवन-सौर हाइब्रिड बिजली कंपनी’’ बन गई है।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश विधानसभा में अनुपूरक बजट पेश, नई योजनाओं के लिए 14,000 करोड़ रुपये का प्रावधान

बयानमें कहा गया, ‘‘एजीईएल ने जैसलमेर में अपना तीसरा पवन-सौर हाइब्रिड बिजली संयंत्र शुरू किया है। नए हाइब्रिड बिजली संयंत्र की संयुक्त उत्पादन क्षमता 450 मेगावॉट है। संयंत्र का एसईसीआई के साथ 25 साल के लिए बिजली खरीद समझौता (पीपीए) है।
इस परियोजना में 420 मेगावॉट सौर बिजली और 105 मेगावॉट पवन बिजली क्षमता शामिल है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



अन्य न्यूज़



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *